बदलते मौसम में स्वस्थ रहने के लिए पिएं ये 4 आयुर्वेदिक काढ़े, नहीं होगी सर्दी-खांसी

Home HEALTH बदलते मौसम में स्वस्थ रहने के लिए पिएं ये 4 आयुर्वेदिक काढ़े, नहीं होगी सर्दी-खांसी
बदलते मौसम में स्वस्थ रहने के लिए पिएं ये 4 आयुर्वेदिक काढ़े, नहीं होगी सर्दी-खांसी

बदलते मौसम में सर्दी-खांसी होना आम बात है, इस मौसम में जुखाम, खांसी और बुखार जैसी समास्याओं का खतरा बना रहता है। सीजनल चेंज के दैरान कई खतरनाक बीमारियां बढ़ जाती है, इसके बचाव के लिए लोग कई सारी दवाईयों के  साथ घरेलू उपचार करते हैं लेकिन फिर भी आराम नहीं मिलता। सीजनल चेंज के दौरान कई सावधानियां बरतनी पड़ती हैं। इस मौसम में सेहत का विशेष ख्याल रखा जाता है, बीमारियों से बचने के लिए घर पर ही आयुर्वेदिक काढ़ा पीकर सर्दी-खांसी को से बचाव किया जा सकता है। आयुर्वेदिक काढ़े के सेवन से वायरल इंफेक्शन और मौसमी बीमारियों से बचा जा सकता है। इन सभी काढ़े का सेवन करने से वायरल इंफेक्शन से बचा जा सकता है, आइए आपको बताते हैं इन  4 आयुर्वेदिक काढ़े को कैसे बनाएं।

तुलसी 

बदलते मौसम के वायरल इंफेक्शन से बचाने के लिए तुलसी का कढ़ा एक बेहतरीन विकल्प है। इसे बनाने के लिए तुलसी, अदरक, काली मिर्च और दालचीनी की जरुरत है, सबसे पहले इसे बनाने के लिए 1 गिलास पानी लें। अब इस पानी में 6-7 तुलसी के पत्ते, 1 टुकड़ा दालचीनी, 3-4 काली मिर्च, और थोड़ी सी अदरक कद्दूकस करके इस पानी को 5 मिनट तक उबाल लें। तुलसी के काढ़े को छानकर ठंडा करके पिएं, इसे गले की खराश भी ठीक हो जाएगी।

अदरक

अदरक में सर्दी-खांसी से लड़ने के लिए सबसे बेहतर मानी जाती है क्योंकि इसमें एंटी-माइक्रोबियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी जैसे गुण मौजूद हैं। अदरक मौसमी बीमारियों के साथ-साथ फ्लू के लक्षण को भी खत्म कर देता है। अदरक का काढ़ा बनाने के लिए 1 इंट अदरक को कद्दूकस करके पानी में उबालें। जब पानी आधा हो जाए तो उसमें एक नींबू का रस और 1 चम्मच शहद मिला लें। इसके सेवन से बुखार में भी राहत मिलेगी।

दालचीनी काढ़ा

दालचीनी में एंटी-माइक्रोबियल गुण पाए जाते है यह इम्यूनिटी बूस्ट करने में मदद करती है, जिससे बीमारियों का खतरा कम हो जाता है। दालचीनी काढ़ा बनाने के लिए सबसे पहले 1 गिलास पानी में एक टुकड़ा दालचीनी के साथ 3-4 काली मिर्च पानी में उबाल लें। उबालते समय पानी जब आधा हो जाए तब इसमें शहद मिला लें। इसे छानकर पिएं सर्दी-खांसी बीमारियां छूमंतर हो जाएगी।

काली मिर्च काढ़ा

काली मिर्च में एंटी- बैक्टीरियल गुण होते है जो सांस संबंधी लक्षणों को कम करता है। इसे बनाने के लिए काली मिर्च के दाने, अदरक, तुलसी के पत्ते और शहद मिलाकर उबालें। यह काढ़ा सर्दी-खांसी को कम करने के लिए बहुत फायदेमंद हैं।

सर्दी के बदलते मौसम में आप इन 4 आयुर्वेदिक काढ़े का सेवन कर सकते हैं इससे आपकी सेहत अच्छी रहेगी। आप इसे बहुत ही आसानी से बना सकते हैं, सीजनल चेंज के समय काफी वायरल इंफेक्शन फैलते हैं इनसे बचने के लिए सबसे बेहतरीन उपाय हैं यह 4 आयुर्वेदिक काढ़ा।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.