Diabetes Food plan । इन फलों को डाइट में शामिल करें डायबिटीज के मरीज, नहीं बढ़ेगी शुगर

Home HEALTH Diabetes Food plan । इन फलों को डाइट में शामिल करें डायबिटीज के मरीज, नहीं बढ़ेगी शुगर
Diabetes Food plan । इन फलों को डाइट में शामिल करें डायबिटीज के मरीज, नहीं बढ़ेगी शुगर

डायबिटीज के मरीजों को खानपान का बहुत ध्यान रखना पड़ता है। उन्हें बहुत सोच समझकर फलों और सब्जियों का सेवन करना पड़ता है। अगर वो ऐसा नहीं करते हैं तो उनके ब्लड शुगर लेवल में अचानक वृद्धि हो सकती है, जो जानलेवा हो सकती है। यही वजह है कि डायबिटीज के मरीजों को संतुलित आहार लेने की सलाह दी जाती है, जिसमें साबुत अनाज और ताजे फल शामिल होते हैं। ये दोनों फाइबर और आवश्यक पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं और डायबिटीज को नियंत्रण में रखने में मदद करते हैं। लेकिन बावजूद इसके लोग फलों का सेवन करने से परहेज करते हैं। फल मीठे होते हैं, इसलिए लोग शुगर बढ़ने के डर से उनका सेवन नहीं करते हैं। लेकिन ऐसा बिलकुल भी नहीं है। डायबिटीज के मरीज फलों का सेवन कर सकते हैं, लेकिन इन्हें कैसे और कितना खाना है बस इसका ध्यान रखना है।

डायबिटीज के मरीज करें इन फलों का सेवन

डायबिटीज के मरीजों को कम जीआई स्कोर और उच्च फाइबर सामग्री वाले फलों का सेवन करना चाहिए। सेब, खट्टे फल, नाशपाती, जामुन, चेरी और कीवी जैसे फल डायबिटीज के मरीजों के लिए अच्छे होते हैं। ये फल ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखने में मदद करते हैं। इसके साथ ही ये मीठा खाने की क्रेविंग को भी कम करने में मदद करते हैं।

डायबिटीज के मरीज न करें इन फलों का सेवन

डायबिटीज के मरीजों का अत्यधिक पका हुआ केला, अनानास, आम, तरबूज और अंगूर जैसे फलों का सेवन नहीं करना चाहिए। इन फलों का सेवन करने से शुगर बढ़ सकती है और परेशानियां हो सकती है। इन फलों के अलावा डायबिटीज के मरीजों को किशमिश, खुबानी और फलों के रस जैसी चीजों का सेवन करने से भी बचना चाहिए।

फलों का सेवन करते समय ध्यान में रखें ये बातें

– डायबिटीज के मरीजों को ताजे और मौसमी फलों का चुनाव करना चाहिए। जमे हुए और डिब्बाबंद फलों का सेवन करने से परहेज करें।

– पोषक तत्व बनाए रखने के लिए फलों को जैसे है वैसे ही रखें, इन्हें काटने की गलती न करें।

– फलों का सेवन करने से पहले उनका ग्लाइसेमिक इंडेक्स जरूर चेक करें।

– डायबिटीज के मरीजों को ताजे और मौसमी फलों का जरुरत से ज्यादा सेवन करने से बचना चाहिए।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.