महंगाई के बीच लोगों को मिली राहत, भारत में अब थाली के लिए चुकानी होगी कम कीमत, ये रहा कारण

Home BUSINESS महंगाई के बीच लोगों को मिली राहत, भारत में अब थाली के लिए चुकानी होगी कम कीमत, ये रहा कारण
महंगाई के बीच लोगों को मिली राहत, भारत में अब थाली के लिए चुकानी होगी कम कीमत, ये रहा कारण

महंगाई के मोर्चे पर इन दिनों लोगों को थोड़ी राहत मिली है। हाल ही में एक रिपोर्ट आई है जिसके अनुसार जनवरी के महीने में महंगाई में हल्की कमी देखने को मिली है। इसका असर आम जनता की थाली पर भी हुआ है। आंकड़ों के अनुसार नॉनवेज थाली की कीमतें सस्ती हो गई है। 

इस संबंध में एक रिपोर्ट आई है, जो कि क्रिसिल मार्केट इंटेलिजेंस एंड एनालिटिक्स (एमआईएंडए) रिसर्च की तरफ से जारी की गई है। इस रिपोर्ट के अनुसार जनवरी के महीने में घर में बनने वाली शाकाहारी यानी वेजिटेरियन थाली की कीमत सालाना आधार पर पांच प्रतिशत महंगी हुई है जबकि मांसाहारी थाली 13 प्रतिशत सस्ती हुई है। क्रिसिल ने ये रिपोर्ट बुधवार को जारी की है।

रिपोर्ट के मुताबिक, जनवरी में दाल, चावल, प्याज और टमाटर की कीमतें बढ़ी है। इनकी कीमत बढ़ने से थाली भी महंगाई की चपेट में आ गई है। पोल्ट्री दरों में आई कमी को देखते हुए मासांहारी थाली की कीमत कम हो गई है। रिपोर्ट की मानें तो प्याज और टमाटर की कीमत बीते महीने सालाना आधार पर 35 प्रतिशत और 20 प्रतिशत बढ़ गई थी। इनकी कीमतों में आई बढ़ोतरी के कारण ही शाकाहारी थाली की कीमत भी बढ़ी है।

इस रिपोर्ट की मानें तो शाकाहारी थाली में चावल अहम भूमिका निभाते हैं, जिनकी कीमत जनवरी में लगभग 14 फीसदी बढ़ गई है। दालों की कीमतों में भी 21 फीसदी का इजाफा हुआ है। वहीं मांसाहारी थाली की कीमत में बढ़ोतरी नहीं हुई है, जिससे मांसाहार खाने वालों के लिए राहत की खबर है। बता दें कि पिछले साल के समान महीने की तुलना में इस साल जनवरी में उत्पादन बढ़ने से ब्रॉयलर मुर्गे की कीमतें 26 प्रतिशत गिरने से मांसाहारी थाली की लागत में गिरावट दर्ज की गई। हालांकि शाकाहारी और मांसाहारी थाली दोनों की ही कीमतें दिसंबर, 2023 की तुलना में जनवरी, 2024 में क्रमशः छह प्रतिशत और आठ प्रतिशत कम हुई हैं। 

रिपोर्ट के मुताबिक, मासिक आधार पर प्याज और टमाटर की कीमतों में क्रमशः 26 प्रतिशत और 16 प्रतिशत की कमी आने और टमाटर की आवक बढ़ने से शाकाहारी थाली की लागत दिसंबर की तुलना में घटी है। वहीं, मांसाहारी थाली के मामले में मासिक आधार पर मुर्गे के दाम आठ-10 प्रतिशत तक कम होने से थाली की लागत तेजी से कम हुई है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.