Pakistan के खैबर पख्तूनख्वा में थाने पर आतंकी हमला, 10 पुलिसकर्मियों की हुई मौत

Home WORLD Pakistan के खैबर पख्तूनख्वा में थाने पर आतंकी हमला, 10 पुलिसकर्मियों की हुई मौत
Pakistan के खैबर पख्तूनख्वा में थाने पर आतंकी हमला, 10 पुलिसकर्मियों की हुई मौत

पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में एक पुलिस स्टेशन पर बड़ा आतंकी हमला हुआ है। इस आतंकी हमले में 10 पुलिसकर्मियों की मौत हो गई है। हमले में छह लोग घायल बताए जा रहे है। पाकिस्तान में हुआ ये हमला साफ तौर पर बताता है कि आरोपियों के यहां इरादे बेहद मजबूत है। यहां चुनावों से तीन दिन पहले भी असामाजिक तत्वों के हौंसले बेहद बुलंद है। अब तक इस हमले की जिम्मेदारी किसी आतंकी संगठन ने नहीं ली है। 

पाकिस्तान में आठ फरवरी को होने वाले चुनावों से पहले ही ये आतंकी हमला हुआ है, जिससे देश में लोगों की सुरक्षा की व्यवस्था पर भी सवालिया निशान खड़े हुए गए है। स्थानीय मीडिया रिपोर्ट की मानें तो पाकिस्तान की पुलिस का कहना है कि खैबर पख्तूनख्वा के डेरा इस्माइल खान जिले में एक पुलिस स्टेशन पर हमला हुआ है। इस हमले में 10 लोगों की मौत हुई है। छह पुलिसकर्मी भी हमले में घायल हुए है। पुलिस का कहना है कि दरबान तहसील में सुबह तीन बजे आतंकियों ने भारी हथियारों से पुलिस स्टेशन पर धावा बोला और हमला कर दिया। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार हमले में घायल लोगों को डीएचक्यू अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। आतंकियों ने पुलिस स्टेशन को चारों तरफ से घेरा था और ग्रेनेड से हमले किए थे। आतंकियों ने पुलिस स्टेशन पर भारी गोलीबारी भी की थी।

इस घटना पर कानून प्रवर्तन एजेंसी का कहना है कि पुलिस ने रात के अंधेरे में ही आतंकियों पर जवाबी कार्रवाई भी की। हालांकि पुलिस इस दौरान आतंकियों को पकड़ने में सफल नहीं हो सकी और आतंकी भागने में सफल रहे। रिपोर्ट्स का कहना है कि पुलिस ने आतंकी हमले के बाद पूरे इलाके में घेराबंदी कर दी है। सुरक्षा व्यवस्था को भी बढ़ाया गया है। पुलिस की टीमें भाग निकले आतंकियों को ढूंढने के लिए लगातार तलाशी अभियान चला रही है। पुलिस की क्विक रिएक्शन फोर्स भी घटना स्थल पर पहुंच गई है। 

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो हाल ही में पाकिस्तान में आतंकी हमलों में काफी बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। इस वर्ष जनवरी में ही देश में 93 आतंकी हमले हो चुके है, जिनमें 90 लोगों की मौत हुई है। इन हमलों में 135 लोग घायल हुए है। वहीं 2024 में भी कई लोगों का आतंकवादियों ने अपहरण किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.